जनता कर्फ्यू के दौरान सड़कों पर उतरकर जश्न मनाने वाले 200 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज


इंदौर। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिये बुलाये गये जनता कर्फ्यू के दौरान यहां दो दिन पहले अलग-अलग इलाकों में सड़कों पर उतरकर जश्न मनाने वाले करीब 200 अज्ञात लोगों पर मामले दर्ज किये गये हैं। इस घातक बीमारी से बचाव के लिये सरकार के जारी परामर्शों की खुलेआम अनदेखी करने वाले इन लोगों के वीडियो सोशल मीडिया पर पहले ही वायरल हो चुके हैं। पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि ये लोग शहर के राजबाड़ा और पाटनीपुरा इलाकों में रविवार को जनता कर्फ्यू का जश्न मनाने जुलूस की शक्ल में सड़कों पर उतरे थे। तब इन्होंने जोर-जोर से ढोल, थालियां और वाहनों के हॉर्न भी बजाये थे। 


उन्होंने बताया कि इन लोगों का यह कृत्य जिलाधिकारी के उस आदेश का कथित उल्लंघन है जिसके तहत प्रशासनिक अनुमति के बगैर जुलूस निकालने पर रोक लगायी गयी है। इस पर करीब 200 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एमजी रोड और परदेशीपुरा पुलिस थानों में भारतीय दंड विधान की धारा 188 (किसी सरकारी अधिकारी का आदेश नहीं मानना) के तहत सोमवार रात अलग-अलग मामले दर्ज किये गये। अधिकारियों ने बताया कि दोनों मामलों में गिरफ्तारी के लिये आरोपियों की पहचान करने के मकसद से वीडियो फुटेज की मदद ली जा रही है। कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप से निपटने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देश भर के नागरिक रविवार को जनता कर्फ्यू में शामिल हुए थे। सरकार लोगों को लगातार सलाह दे रही है कि घातक वायरस को फैलने से रोकने के लिये सामाजिक दूरी बनाना हर किसी व्यक्ति के लिये आवश्यक है।


Popular posts
राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ का निमंत्रण प्रणव दा द्वारा स्वीकार करने पर कांग्रेस पार्टी ही नहीं पूरा विपक्ष असमंजस में था।
Image
उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के दिशा-निर्देशों के क्रम में
Image
परियोजना मंत्री श्री सतपाल महाराज ने 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत चयनित सतपुली में पर्यटन विभाग की 40 शैय्या वाले आवास गृह एवं विवाह समारोह मल्टीपरक हाल के निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन कर शिलान्यास किया
Image
सुब्रमण्यम स्वामी ने सरकार पर उठाए सवाल, GST को बताया 21वीं सदी का सबसे बड़ा पागलपन
Image
जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में जनता दरबार का आयोजन किया गया
Image