योग कोई धर्म या राजनीतिक गतिविधि नहीं, बल्कि विज्ञान है: नायडू


कोयंबटूर। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि योग कोई धर्म या राजनीतिक गतिविधि नहीं, बल्कि विज्ञान है। नायडू ने यहां ईशा योग केंद्र में आयोजित महाशिवरात्रि उत्सव में कहा, ‘‘विश्व को और खुशहाली की आवश्यकता है और भगवान शिव हमें यही सिखाते हैं। आदियोगी ने ही मानवता को सबसे पहले योग विज्ञान दिया था।’’



 


उन्होंने कहा कि आदियोगी एक प्रेरणा हैं, वह योग का प्रतिनिधित्व करते हैं और योग कोई आस्था नहीं, बल्कि स्वयं को बदलने की तकनीक है। उन्होंने कहा, ‘‘योग कोई धर्म नहीं, बल्कि विज्ञान है। अब समय आ गया है कि हम योग की ओर लौटें।’’ नायडू ने कहा, ‘‘मैं खुश हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने योग को संयुक्त राष्ट्र ले जाने की पहल की। अब योग का प्रसार बढ़ रहा है। इसका श्रेय प्रधानमंत्री की पहल को जाता है।’’


Popular posts
उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के दिशा-निर्देशों के क्रम में
Image
परियोजना मंत्री श्री सतपाल महाराज ने 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत चयनित सतपुली में पर्यटन विभाग की 40 शैय्या वाले आवास गृह एवं विवाह समारोह मल्टीपरक हाल के निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन कर शिलान्यास किया
Image
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई बदलाव नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर
Image
PM मोदी का संबोधन आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को मजबूती देने वाला है: राजनाथ सिंह
Image
‘वन नेशन-वन राशन कार्ड’ योजना में शामिल हुएजम्मू-कश्मीर, मणिपुर, नागालैंड और उत्तराखंड: पासवान
Image