भाजपा के विरोध का मतलब हिंदू-विरोध नहीं, राजनीतिक लड़ाई को हिंदुओं से न जोड़े: भैयाजी जोशी


पणजी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) नेता सुरेश ‘भैयाजी’’ जोशी ने रविवार को कहा कि भाजपा का विरोध करना हिंदुओं का विरोध करने के बराबर नहीं है। जोशी ने यह बात यहां पास स्थित दोना पाउला में ‘‘विश्वगुरु भारत’’ पर भाषण के तहत प्रश्न उत्तर सत्र के दौरान कही। इस सवाल पर कि ‘क्यों हिंदू अपने ही समुदाय के दुश्मन बन रहे हैं, उन्होंने कहा, ‘‘हमें भाजपा के विरोध को हिंदुओं का विरोध नहीं मानना चाहिए। यह एक राजनीतिक लड़ाई है जो चलती रहेगी। इसे हिंदुओं से नहीं जोड़ना चाहिए।’’


जोशी ने कहा, ‘‘आपका सवाल कहता है कि हिंदू ही हिंदू समुदाय का दुश्मन बन रहे हैं, यानी भाजपा। हिंदू समुदाय का मतलब भाजपा नहीं है।’’ उनकी यह टिप्पणी संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच आई है। जोशी ने कहा, ‘‘एक हिंदू अपने साथी (हिंदू) के खिलाफ लड़ता है क्योंकि वे धर्म भूल जाते हैं। यहां तक कि छत्रपति शिवाजी महाराज को भी अपने ही परिवार से विरोध का सामना करना पड़ा था। जहां भ्रम और आत्मकेंद्रित व्यवहार होता है, विरोध होता है।’’ 

 

 

भैयाजी जोशी ने गिरजाघरों पर लोगों की अज्ञानता और गरीबी का फायदा उठाकर ईसाई धर्म में धार्मांतरण कराने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अगर कोई अपनी इच्छा से ईसाई धर्म अपनाता है तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं लेकिन जबरन धर्मांतरण को आपराधिक कृत्य माना जाना चाहिए।

Popular posts
कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण-दैनिक सूचना, मेडिकल हेल्थ बुलेटिन
14 अगस्त 2020 को देशभर के कर्मचारी अधिकार दिवस मनाएंगे।
उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के दिशा-निर्देशों के क्रम में
Image
परियोजना मंत्री श्री सतपाल महाराज ने 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत चयनित सतपुली में पर्यटन विभाग की 40 शैय्या वाले आवास गृह एवं विवाह समारोह मल्टीपरक हाल के निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन कर शिलान्यास किया
Image
ऋषिकेश-कर्णप्रयाग नई ब्राड गेज रेल लाईन परियोजना
Image