‘‘विकास के तीन साल-बातें कम काम ज्यादा‘‘

सूचना/पौड़ी/श्रीनगर/दिनांक 02 मार्च, 2020

सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने के अवसर राज्य के प्रत्येक विधान सभा में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की रूप रेखा तैयार किये जाने हेतु प्रदेश के उच्च शिक्षा, सहकारिता, प्रोटोकॉल एंव दुग्ध विकास, राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने आज महिला थाना श्रीनगर में श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र में आयोजित होने वाली कार्यक्रम की रूप रेखा को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होने कहा कि उनके द्वारा अपने विधानसभा क्षेत्र में आजादी के 70 साल बाद मात्र तीन वर्षों में सबसे अधिक कार्य किये गये है। उन्होने एक के बाद एक ऐतिहासिक कार्य किये है। श्रीनगर के प्रवेश में महाराजा अजय पाल की स्मृति में प्रवेश द्वार बनाये जायेगे। जबकि दूसरी छोर चित्रकार मौलाराम की स्मृति में द्वार बनाये जायेगे। 

 उन्होंने कहा कि 18 मार्च, 2020 को सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर राज्य के समस्त विधानसभा क्षेत्रों में कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे और इसके लिए ‘‘विकास के तीन साल-बातें कम काम ज्यादा‘‘ अपने अपने विधान सभा क्षेत्र में रिर्पोट कार्ड प्रस्तुत कर। कहा कि डोईवाला विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश के मुख्यमंत्री का संबोधन सजीव प्रसारण होगा, इसके लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एलईडी की व्यवस्था की जायेगी। प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी को कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु नोडल अधिकारी नामित किया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी विधानसभा में 02 कार्यक्रम थलीसैंण और श्रीनगर में आयोजित किये जायेंगे। कहा कि श्रीनगर में आयोजित होने वाले कार्यक्रम के लिए रामलीला मैदान अथवा श्रीनगर मेडिकल कालेज के हाॅल में से एक को चिन्ह्ति किया जायेगा। कार्यक्रम के आयोजन के लिए धनराशि राज्य सरकार द्वारा दी जायेगी। कहा कि कार्यक्रम में ‘‘विकास के तीन साल-बातें कम काम ज्यादा‘‘  विकास पुस्तिका का भी विमोचन किया जाना है, जिसके तहत प्रदेश स्तर पर विकास पुस्तिका का प्रकाशन किया जा रहा है, वहीं उनके द्वारा प्रत्येक विभाग में अपनी विधानसभा में तीन साल में क्या-क्या कार्य किये गये, से संबंधित रिपोर्ट कार्ड भी जिला एवं विधानसभा स्तर पर विकास पुस्तिका के रूप में प्रकाशित की जायेगी। 

उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ. रावत ने कहा कि श्रीनगर पूरे उत्तराखण्ड में एक पौराणिक शहर है। 1512ई. में महाराजा अजय पाल देवलगढ़ से यहां आये और श्रीनगर को अपनी राजधानी बनाया। हजारों वर्ष पूर्व गुरू गौरखनाथ जी ने यहां आकर तपस्या की थी, आज भी वहां पर गुफा विद्यमान है और देश विदेश के हजारों श्रद्धालु वहां आते हैं, जिसके जीर्णोद्धार/सौन्दर्यीकरण के लिए आज उनके द्वारा 05 लाख की धनराशि दी गई है। कहा कि श्रीनगर बस अड्डे के लिए उनके द्वारा तीन बैठके की गई हैं और बहुत जल्दी श्रीनगर वासियों को बस अड्डे की सौगात मिलेगी।

इस मौके पर भाजपा मण्डल अध्यक्ष गिरीश पैन्युली, अध्यक्ष डीसीबी नरेन्द्र सिह रावत, उपजिलाधिकारी श्रीनगर दीपेन्द्र सिंह नेगी, सीएमओ डाॅ. मनोज बहुखण्डी, डीपीआरओ एम.एम.खान, अधी.अभि. विद्युत एम.आर. आर्य, जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भण्डारी, बीडीओ पाबौ प्रवीन भट्ट, अधि.अभि. विद्युत वाई.एस. तोमर, पेजयल राजेश सिंह, नि.ख.लोनिवि श्रीनगर डी.सी. नौटियाल, एई सिंचाई सूर्य प्रताप सिंह, जल संस्थान कृष्ण कान्त, पेयजल निगम देवप्रयाग रमाकान्त गुप्ता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Popular posts
कोविड-19 के सक्रमण से रोकथाम एवं बचाव हेतु जिला प्रशासन हर स्थिति से निपटने के लिए सक्रियता से कार्य में जुटी है
‘वन नेशन-वन राशन कार्ड’ योजना में शामिल हुएजम्मू-कश्मीर, मणिपुर, नागालैंड और उत्तराखंड: पासवान
Image
पर्यटन विभाग के अन्तर्गत चयनीत योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया
Image
कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण-दैनिक सूचना, मेडिकल हेल्थ बुलेटिन
परियोजना मंत्री श्री सतपाल महाराज ने 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत चयनित सतपुली में पर्यटन विभाग की 40 शैय्या वाले आवास गृह एवं विवाह समारोह मल्टीपरक हाल के निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन कर शिलान्यास किया
Image