राम मंदिर ट्रस्टियों में शामिल एक दलित, जिसने रखी थी पहली शिला


एल.एस.न्यूज नेटवर्क, नयी दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 15 सदस्यीय ट्रस्ट का गठन हो गया है। इसे 'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' नाम दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में 15 सद्सयी ट्रस्ट के बारे में घोषणा बीते दिनों की जिसमें एक दलित भी शामिल है। मोदी सरकार ने नवगठित ट्रस्ट को मंदिर निर्माण शुरू करने के लिए नकद में एक रुपये का दान भी किया। गृह मंत्रालय में अवर सचिव डी मु्र्मू ने सरकार की ओर से यह राशि दी। ट्रस्ट बिना किसी शर्त के दान, अनुदान, चंदा, मदद या योगदान नकद, अचल संपत्ति के तौर पर स्वीकार करेगा। लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा राम मंदिर ट्रस्टियों में शामिल एक दलित को शामिल किए जाने की है।


 

दरअसल, कामेश्वर चौपाल वह शख्स हैं जिन्होंने 9 नवंबर 1989 को अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर के लिए नींव की पहली 'राम शिला' (ईंट) रखी थी। उस समय में वह विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के स्वयंसेवक थे। बिहार के सुपौल के रहने वाले कामेश्वर चौपाल वर्तमान में बीजेपी के दलित नेता हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जानकारी देते हुए कहा कि "श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण की पहली शिला दलित समाज के श्री कामेश्वर चौपाल जी ने रखी थी।


Popular posts
कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण-दैनिक सूचना, मेडिकल हेल्थ बुलेटिन
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई बदलाव नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर
Image
PM मोदी का संबोधन आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को मजबूती देने वाला है: राजनाथ सिंह
Image
चम्बल में घड़ियालों के अलावा डॉल्फिन, ऊदबिलाव, कछुए, मछली एवं अन्य जलीय जंतु पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र
Image
परियोजना मंत्री श्री सतपाल महाराज ने 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत चयनित सतपुली में पर्यटन विभाग की 40 शैय्या वाले आवास गृह एवं विवाह समारोह मल्टीपरक हाल के निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन कर शिलान्यास किया
Image