JNU हिंसा पर बोले गृह राज्य मंत्री, कुछ दंगाइयों की कर ली गई है पहचान


नयी दिल्ली। सरकार ने बुधवार को बताया कि जनवरी की शुरूआत में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में नकाबपोश लोगों द्वारा किए गए हमले में 51 व्यक्तियों को चोटें आईं और कुछ निजी कारों तथा संपत्ति को नुकसान पहुंचा। गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी देते हुए बताया कि हमले में शामिल कुछ दंगाइयों की पहचान कर ली गई है। उन्होंने बताया, ‘‘पांच जनवरी 2020 को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में नकाबपोश लोगों द्वारा किए गए हमले में 51 व्यक्तियों को चोटें आईं और कुछ निजी कारों तथा संपत्ति को नुकसान पहुंचा। छात्रों और अध्यापकों पर यह हमला छड़ों और लाठियों से किया गया।’’



 


रेड्डी ने बताया कि हमले के संबंध में छह जनवरी को वसंत कुंज उत्तर थाने में एक और मामला दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि हमले में शामिल कुछ दंगाइयों की पहचान कर ली गई है। गृह राज्य मंत्री ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने जेएनयू परिसर के अंदर और बाहर पुलिस कर्मियों की तैनाती सहित ऐहतियाती कदम उठाए हैं। उन्होंने बताया ‘‘जेएनयू ने सूचित किया है कि उन्होंने परिसर में चौबीसों घंटे 277 निजी सुरक्षा कर्मी तैनात किए हैं।’’ रेड्डी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की सूचना के अनुसार, अक्टूबर 2019 से जेएनयू के विद्यार्थी छात्रावास फीस में वृद्धि और अन्य प्रशासनिक मुद्दों के खिलाफ विरोध कर रहे हैं।


उन्होंने बताया कि नए सेमिस्टर के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया रोकने के लिए विद्यार्थियों ने तीन और चार जनवरी 2020 को जेएनयू परिसर के भीतर सीआईएस सेंटर के सर्वर सिस्टम को क्षतिग्रस्त कर दिया था तथा मारपीट एवं हिंसा में लिप्त हो गए। गृह राज्य मंत्री के अनुसार ‘‘जेएनयू से प्राप्त शिकायतों के आधार पर वसंत कुंज उत्तरी पुलिस थाने में दो मामले दर्ज किए गए हैं।


Popular posts
PM मोदी का संबोधन आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को मजबूती देने वाला है: राजनाथ सिंह
Image
14 अगस्त 2020 को देशभर के कर्मचारी अधिकार दिवस मनाएंगे।
परियोजना मंत्री श्री सतपाल महाराज ने 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत चयनित सतपुली में पर्यटन विभाग की 40 शैय्या वाले आवास गृह एवं विवाह समारोह मल्टीपरक हाल के निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन कर शिलान्यास किया
Image
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई बदलाव नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर
Image
पर्यटन विभाग के अन्तर्गत चयनीत योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया
Image