आतंकवादियों का समर्थन करने वाले लोग ही शाहीन बाग में प्रदर्शन कर लगा रहे आजादी वाले नारे : योगी आदित्यनाथ

 



एल.एस.न्यूज नेटवर्क नयी दिल्लीसंशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध करने वालों की कड़ी निंदा करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को आरोप लगाया कि कश्मीर में आतंकवादियों का समर्थन करने वाले लोग ही शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे हैं और 'आजादी' के नारे लगा रहे हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में विभिन्न चुनावी रैलियों में आदित्यनाथ ने यह भी कहा, 'उनके प्रदर्शनकारियों के) पूर्वजों ने भारत को विभाजित किया, इसलिए उन लोगों को इस उभरते ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत' से दिक्कत है।'


उन्होंने आप सरकार की भी यह कहते हुए आलोचना की कि वह शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों को बिरयानी दे रही है। भाजपा उम्मीदवार मोहन सिंह बिष्ट और मुस्तफाबाद के वर्तमान विधायक जगदीश प्रधान के समर्थन में करावल नगर चौक पर अपनी पहली चुनावी रैली में आदित्यनाथ ने कहा कि सीएए विरोधी प्रदर्शन 'भारत के विरूद्ध है और यह देश की छवि को बदनाम करने का प्रयास है। उन्होंने कहा 'यह 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' के सपने को साकार करने की में एक रोड़ा है।' उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने दिल्ली के अपने समकक्ष (अरविंद केजरीवाल) पर भी निशाना साधा और आरोप लगाया कि वह (केजरीवाल) एवं उनकी पार्टी शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों के साथ है तथा पाकिस्तान के एक मंत्री एवं आप एक ही सुर में बोल रहे हैं।


उन्होंने पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद हुसैन द्वारा दिल्ली चुनाव पर किये गये ट्वीट का हवाला देते हुए कहा, ' ऐसा कैसे हुआ ? हमें नहीं पता कि उनके संबंध कहां-कहां हैं ?' केजरीवाल ने शुक्रवार को यह कहते हुए फवाद को जवाब दिया था कि दिल्ली का चुनाव भारत का अंदरूनी मामला है और पाकिस्तान का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आदित्यनाथ ने कहा, ' दिल्ली के लोगों, आपको तय करना है कि क्या आप स्वास्थ्य, बेहतर शिक्षा सुविधाएं, बेहतर पर्यावरण, मेट्रो सेवाएं चाहते हैं या दिल्ली को शाहीन बाग की जरूरत है। मैं यहां आपको यही बताने आया हूं।'


एक अन्य रैली में आप पर प्रहार जारी रखते हुए उन्होंने कहा, - (दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली के लोगों को स्वच्छ पेयजल तक नहीं दे सकते..बीआईएस के सर्वेक्षण के अनुसार दिल्ली सरकार अपने लोगों को जहरीला पानी पिला रही है। लेकिन वह शाहीन बाग एवं शहर में अन्य स्थानों पर प्रदर्शन कर लोगों को बिरयानी दे रही है। उल्लेखनीय है कि महिलाओं और बच्चों समेत सैंकड़ों लोग संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी के खिलाफ 15 दिसंबर से शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह कानून भेदभावकारी है और उन्हें डर है कि इस कानून के निशाने पर मुसलमान हैं।


रोहिणी में भाजपा उम्मीदवार विजेंद्र गुप्ता के पक्ष में एक रैली को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने दावा किया कि महात्मा गांधी ने कहा था कि पाकिस्तान से अत्याचार के चलते भारत आ रहे हिंदुओं, सिखों, बौद्धों, जैनियों, पारसियों और ईसाइयों को नागरिकता दी जानी चाहिए और इसलिए इस कानून का स्वागत किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ' जिन लोगों ने कश्मीर में आतंकवादियों का समर्थन किया है वे ही सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में आकर धरने पर बैठ गये हैं और 'आजादी' के नारे लगा रहे हैं। भाजपा नेता ने कहा, 'आपको समझना चाहिए कि वे चाहते क्या हैं, वे भारत के बारे में सोचते क्या है, वे उसे कहां ले जा रहे हैं।


यदि वे दंगा या आगजनी करते हैं। उत्तर प्रदेश में, तो मैंने प्रशासन से उनसे उनकी भरपाई करवाने के लिए कह दिया है और हमने उनकी संपत्ति जब्त कर ली। उन्होंने यह भी कहा कि जबसे नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं , ' हम हर आतंकवादी की पहचान कर रहे हैं और उन्हें बिरयानी के बजाय गोली खिला रहे हैं। उन्होंने कहा, ' कश्मीर को शांत रहने दें। यदि आप पाकिस्तान की भाषा बोलेंगे, पाकिस्तान के पक्ष में बोलेंगे तो सैनिक की गोली आपको नर्क का रास्ता दिखा देगी। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान भाजपा के नेता लोगों से आग्रह कर रहे हैं कि वे शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन के प्रति असहमति व्यक्त करने के लिए भगवा दल को वोट दें।


Popular posts
फांसी पर रोक लगाने से SC का इनकार, मंगलवार सुबह होगी निर्भया के दोषियों को फांसी
Image
जी.आई. एण्ड टी.आई मैदान श्रीनगर गढ़वाल में आयोजित दस दिवसीय सरस मेला 2020
Image
  श्री सत्य साई अन्नपूर्णा फाउंडेशन के सहयोग से जनपद के 67 कुपोषित बच्चो को 500 ग्राम का प्रोटीन पाउडर दिया
Image
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत वर्ष 2020-21 के लक्ष्य के सापेक्ष लाभार्थियों की परियोजनाआंे के साक्षात्कार के माध्यम से चयन हेतु
Image
उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के दिशा-निर्देशों के क्रम में
Image